Micro Teaching Skill Lesson Plan In Hindi

Micro Teaching Skill Lesson Plan In Hindi


Micro Teaching Skills In Hindi / सूक्ष्म शिक्षण हिंदी पाठ योजना 


Note: निचे दी गयी हिंदी पाठ योजना केवल एक उदाहरण मात्र है| जिसमे कक्षा, नाम, कोर्स, दिनांक, अवधि इत्यादि में बदलाव करके आप अपनी सुविधा के अनुसार काम में ला सकते है|

लेसन प्लान का संक्षिप्त विवरण:
  • कक्षा (Class) – 5, 6, 7, 8, 9 , 10
  • विषय(Subject) - हिंदी व्याकरण (Hindi Vyakran/Grammar)
  • प्रकरण (Topic) – समास (हिंदी व्याकरण)
  • माइक्रो टीचिंग स्किल- प्रस्तावना कौशल
  • समय - 6 मिनट




पाठ प्रस्तावना कौशल

अध्यापक /अध्यापिका क्रियाएं- छात्र क्रियाएं-
अध्यापक / अध्यापिका श्यामपट्ट पर लिखे हुए शब्दों की ओर संकेत करते हुए कहेंगे |

माता + पिता = माता-पिता
विश्राम + ग्रह = विश्राम गृह
घोड़ा + सवार= घुड़सवार

यह सभी शब्द कैसे बने हैं?

(पूर्व ज्ञान सूक्ष्म कौशल (माइक्रो टीचिंग स्किल ) का प्रयोग)
यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बने हैं।
माता पिता में पूर्व पद कौन सा है?

(पूर्व ज्ञान एवं तारतम्यता सूक्ष्म कौशल का प्रयोग)
माता पिता में पूर्व पद माता है।
माता पिता में उत्तर पद कौन सा है?

(शाब्दिक तथा शाब्दिक व्यवहार की सार्थकता एवं उचित साधनों का प्रयोग)
माता पिता शब्द में उत्तर पद पिता है।
समास की परिभाषा बताएं?

(तारतम्यता सूक्षम शिक्षण कौशल का प्रयोग)
समस्यात्मक प्रश्न
अध्यापक अध्यापिका कथन-

दो या दो से अधिक शब्दों के मेल से बने सार्थक शब्द समास कहलाते हैं।

microteaching in hindi subject, micro teaching lesson plan hindi subject, sukshma shikshan chakra, b.ed micro teaching notes in hindi, micro teaching in hindi btc, skill of microteaching in hindi, blackboard skill in hindi, micro teaching lesson plan in hindi pdf,

निरीक्षण अनुसूची एवं रेटिंग स्केल (Observation Schedule)


व्यवहार घटक (components or elements used) रेटिंग स्केल (Rating scale)
पूर्व ज्ञान का प्रयोग 0, 1 , 2 , 3 , 4, 5 , 6
तारतम्यता का प्रयोग 0, 1 , 2 , 3 , 4, 5 , 6
शाब्दिक एवं अशाब्दिक व्यवहार की सार्थकता 0, 1 , 2 , 3 , 4, 5 , 6
उचित साधनों का प्रयोग 0, 1 , 2 , 3 , 4, 5 , 6






सूक्ष्म शिक्षण (माइक्रो टीचिंग) हिंदी में कैसे बनाते हैं ? तथा इसे बनाने के विभिन्न चरण कौन-कौन से होते हैं और इसका प्रयोग हम कहां कहां और कैसे कर सकते हैं?

अगर आप बीएड(B.Ed) , बीटीसी, (BTC), D.El.Ed के 1st, 2nd , 3rd , 4th ya kisi bhi semester or year ka विद्यार्थी हैं| या फिर किसी स्कूल में हिंदी के अध्यापक/ अध्यापिका है तो आपको माइक्रो टीचिंग स्किल्स की जरूरत पड़ती होगी। दोस्तों इस पोस्ट के माध्यम से आप हिंदी का माइक्रोटीचिंग लेसन प्लान (हिंदी की सूक्ष्म पाठ योजना) बड़ी आसानी से बना सकते हैं|

माइक्रो टीचिंग हिंदी लेसन प्लान में हमने समास विषय को लिया है जो की हिंदी व्याकरण के अंदर आता है और कक्षा 6, 7 ,8, 9, 10 के विद्यार्थियों को पढ़ाने के लिए बहुत उपयोगी होगा। न केवल कक्षा पांचवी छठी सातवीं आठवीं के लिए, अपितु कक्षा 1, 2, 3, 4, और 11, 12 के हिंदी के अध्यापक, अध्यापिका भी सूक्ष्म माइक्रो हिंदी लेसन प्लान की मदद से सूक्ष्म पाठ योजना तैयार कर सकते है इस माइक्रो टीचिंग स्किल में हमने प्रस्तावना कौशल का प्रयोग किया है जिसमें एक तरफ अध्यापक अध्यापिका क्रियाएं दी गई हैं यह वह क्रियाएं हैं जो अध्यापक/ अध्यापिका कक्षा में पढ़ाते समय करेंगे वहीं दूसरी तरफ छात्र क्रियाएं दी गई हैं जिसमें अध्यापक द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर छात्र-छात्राएं देंगे।

यह सूक्ष्म माइक्रो टीचिंग स्किल्स ज्यादा समय के नहीं होते हैं 5 से 8 मिनट तक के होते हैं जिसमें अध्यापक सभी सक्षम टीचिंग स्किल्स को इस्तेमाल करके एक दमदार तरीके से पाठ की शुरुआत करते हैं

इस हिंदी की माइक्रो टीचिंग लेसन प्लान में जो स्किल इस्तेमाल किए गए हैं वह है पूर्व ज्ञान का प्रयोग जिसमें अध्यापक/ अध्यापिका कक्षा में विद्यार्थियों से कुछ सवाल पूछते हैं और उनके पूर्व ज्ञान का परीक्षण करते हैं साथ ही साथ तारतम्यता और शाब्दिक अशाब्दिक व्यवहार का भी प्रयोग करते हैं।

Similar Posts

2 Comments

Please Share your views and suggestions in the comment box

Post a Comment

Please Share your views and suggestions in the comment box

Previous Post Next Post