SANGYA [Noun] LESSON PLAN IN HINDI | संज्ञा पाठ योजना

SANGYA [Noun] LESSON PLAN IN HINDI | संज्ञा पाठ योजना

Suksham Hindi Path Yojna on Sangya aur uske bhed for Class 6th

लेसन प्लान का संक्षिप्त विवरण:

  • कक्षा: 5 to 10
  • विषय: हिंदी
  • टॉपिक: संज्ञा और उसके भेद
  • पाठ योजना प्रकार: सूक्षम शिक्षण


Note: निचे दी गयी हिंदी पाठ योजना केवल एक उदाहरण मात्र है| जिससे आपको Lesson Plan बनाने का Idea मिलता है| आप खुद की कल्पना शक्ति और प्रतिभा से इसे और बेहतर बना सकते है| और साथ ही साथ कक्षा, नाम, कोर्स, दिनांक, अवधि इत्यादि में बदलाव करके इसे आप अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकते है


Sangya lesson Plan ( Noun Lesson Plan in Hindi ) for Class 6 download pdf free for NCERT, CBSE School teachers, Sangya Lesson Plan In Hindi For B.Ed/D.EL.ED, संज्ञा व उसके भेद

SANGYA LESSON PLAN IN HINDI [संज्ञा पाठ योजना] Hindi Grammar For B.Ed 1st Year, 2nd Year and DELED | Sangya Aur Uske Bhed Par Hindi Lesson Plan

Date: Duration Of The Period:
Students Teacher Name: Pupil Teacher's Roll Number:
Class: Average Age Of the Students:
Subject: Topic:

सहायक सामग्री: चाक, श्यामपट्ट, झाड़न, संकेतक आदि|

सामान्य उद्देश्य:

  • छात्रों की मानसिक शक्ति का विकास करना|
  • छात्रों की मौखिक तथा लिखित रूप से भाव व्यक्त करने की क्षमता को उजागर करना|
  • बच्चों में श्रवण, लेखन, वाचन, पठन, आदि कौशलों का विकास करना|

विशिष्ट उद्देश्य:

ज्ञानात्मक उद्देश्य: बच्चों के ज्ञान में वृद्धि करना तथा बच्चों को संज्ञा के बारे में परिचित कराना|

प्रयोगात्मक उद्देश्य: बच्चों को संज्ञा की परिभाषा, भेद, और उदाहरण को बताना|

बोधात्मक उद्देश्य: बच्चों को कठिन शब्दों का अर्थ बताना|

कौशलात्मक उद्देश्य: संज्ञा को मौखिक एवं लिखित रूप में समझाना

शिक्षण बिंदु: छात्राध्यापक क्रियाएं: छात्र-क्रियाएं: श्यामपट्ट कार्य:
संज्ञा किसी वस्तु, व्यक्ति, स्थान आदि के नाम को संज्ञा कहते हैं|

जैसे: राम, दिल्ली, टेबल, बुढ़ापा, बचपना आदि|

रमेश कल दिल्ली जाएगा

इस वाक्य में स्थान है, दिल्ली तथा व्यक्ति रमेश है, यह दोनों शब्द ही संज्ञा है|

संज्ञा: रमेश, दिल्ली, बुढ़ापा, पर्वत, मनुष्य आदि
संज्ञा के भेद: संज्ञा के प्रायः तीन भेद होते हैं|
  • व्यक्तिवाचक संज्ञा
  • जातिवाचक संज्ञा
  • भाववाचक संज्ञा
व्यक्तिवाचक संज्ञा जिस शब्द से किसी एक व्यक्ति, वस्तु अथवा स्थान का बोध होता है. उसे हम व्यक्तिवाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे:राम, मोहन, दिल्ली, गंगा, हिमालय आदि|

जातिवाचक संज्ञा जिस शब्द से किसी एक ही प्रकार की जाति का बोध हो, उसे हम जातिवाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे: मनुष्य, पशु, वृक्ष, नदी, पर्वत, बगीचा, कवि इत्यादि|

भाववाचक संज्ञा जिस संज्ञा शब्द से किसी व्यक्ति या पदार्थ की दशा, गुण, दोष आदि का बोध होता है उसे भाववाचक संज्ञा कहते हैं|

जैसे- सत्य, न्याय, प्रेम, दया, बुढ़ापा, लंबाई, घबराहट, मिठास इत्यादि| उदाहरण:

गुण के नाम: भलाई, बुराई, मोटाई इत्यादि

दया के नाम: लड़कपन, दरिद्रता, धनी इत्यादि

भाव के नाम- दयालु, क्रोधी, मोह, बुढ़ापा इत्यादि

भाववाचक संज्ञा-बुढ़ापा,मित्रता

पुनरावृति:

संज्ञा किसे कहते हैं? तथा उनके भेदों के नाम बताएं|

संज्ञा के सभी भेदों के दो दो उदाहरण दें|

Observation Schedule:

S. No. Components Rating
1. व्याकरणीय शुद्धता 0 1 2 3 4 5
2. विशिष्टता 0 1 2 3 4 5
3. आवाज 0 1 2 3 4 5
4. विविध प्रश्न 0 1 2 3 4 5


www.LearningClassesOnline.com/

Similar Posts

For the Latest Updates and More Stuff... Join Our Telegram Channel...
LearningClassesOnline - Educational Telegram Channel for Teachers & Students. Here you Can Find Lesson Plan, Lesson Plan format, Lesson plan templates, Books, Papers for B.Ed, D.EL.ED, BTC, CBSE, NCERT, BSTC, All Grade Teachers...

Post a Comment

Please Share your views and suggestions in the comment box

Previous Post Next Post