Hindi Lesson Plan on Pandit Jawahar Lal Nehru [भारत की खोज] | पंडित जवाहरलाल नेहरू पाठ योजना

Hindi Lesson Plan on Pandit Jawahar Lal Nehru [भारत की खोज] | पंडित जवाहरलाल नेहरू पाठ योजना

Hindi Lesson Plan on Pandit Jawaharlal Nehru Book Bharat Ki Khoj For Class 8th Teachers.

लेसन प्लान का संक्षिप्त विवरण:

  • Class : 8th
  • Subject : हिंदी गद्य
  • Topic : (उपसंहार) पंडित जवाहरलाल नेहरू [भारत की खोज]


Note: निचे दी गयी हिंदी पाठ योजना केवल एक उदाहरण मात्र है| जिससे आपको Lesson Plan बनाने का Idea मिलता है| आप खुद की कल्पना शक्ति और प्रतिभा से इसे और बेहतर बना सकते है| और साथ ही साथ कक्षा, नाम, कोर्स, दिनांक, अवधि इत्यादि में बदलाव करके इसे आप अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकते है


jawaharlal nehru lesson plan in hindi, bharat ek khoj lesson plan in hindi, bharat ki khoj par path yojna hindi for class 8th,Hindi Lesson Plan,Bharat Ki Khoj Lesson Plan,Bharat Ki Khoj Lesson Plan B.Ed,Bharat Ki Khoj Lesson Plan For D.El.Ed

Hindi Lesson Plan on Pandit Jawahar Lal Nehru [Bharat Ki Khoj] For B.Ed 1st Year, 2nd Year and DELED - Pandit Jawahar Lal Nehru Lesson Plan in Hindi | भारत की खोज पाठ योजना

Date: Duration Of The Period:
Students Teacher Name: Pupil-Teacher Roll Number:
Class: Average Age Of the Students:
Subject: Topic:

विषय-वस्तु विश्लेषण:

  1. लेखक पंडित जवाहरलाल नेहरू का संक्षिप्त परिचय|
  2. ‘उपसंहार’ नामक पाठ की व्याख्या|
  3. कठिन शब्दों के अर्थों को बताना|

सामान्य उद्देश्य:

  1. छात्रों की गद्य साहित्य के प्रति रुचि उत्पन्न करवाना|
  2. छात्रों के शब्द भंडार में वृद्धि कराना|
  3. छात्रों को साहित्य सर्जन करने की प्रेरणा देना|

अनुदेशनात्मक उद्देश्य:

  • छात्र शुद्ध उच्चारण कर सकेंगे|
  • छात्र वर्तनी विश्लेषण कर सकेंगे|
  • छात्र पाठ को पढ़कर अर्थ ग्रहण कर सकेंगे|
  • छात्र पाठ को स्वरों के उतार-चढ़ाव रहित भावानुकूल वाणी में पढ़ सकेंगे|
  • छात्र प्रश्नों के उत्तर सरल भाषा में दे सकेंगे|
  • छात्र शुद्ध वाचन में निपुण हो जाएंगे|

सामान्य शिक्षण सहायक सामग्री:चौक, स्वच्छक, संकेतक, श्यामपट्ट|

अनुदेशनात्मक शिक्षण सहायक सामग्री:पंडित जवाहरलाल नेहरू को दर्शाता चार्ट

पूर्व ज्ञान परिकल्पना:

कक्षा में जाने से पहले छात्राध्यापिका यह मानती है, कि विद्यार्थी नेहरु जी के बारे में सामान्य ज्ञान रखते होंगे|

पूर्व ज्ञान परीक्षण:

विद्यार्थी के पूर्व ज्ञान को जानने के लिए छात्राध्यापिका निम्न प्रश्न पूछेंगी|

छात्र-अध्यापिका क्रियाएं: छात्र-क्रियाएं:
आप किस देश में रहते हो? भारत
भारत की संस्कृति कैसी है? विभिन्नताओं में एकता
लेखक ने अपनी रचना भारत की खोज में क्या लिखा है? समस्यात्मक प्रश्न

उपविषय की घोषणा:छात्र-अध्यापिका विद्यार्थियों से संतोषजनक उत्तर ना पाकर अपने उप-विषय की घोषणा करेंगी, कि आज हम पंडित जवाहरलाल नेहरु के बारे में पढेंगे|

प्रस्तुतीकरण:व्याख्यान विधि व चार्ट के माध्यम से छात्र-अध्यापिका कक्षा में अपना पाठ प्रस्तुत करेंगी|

शिक्षण बिंदु: छात्रध्यापिका क्रियाएं छात्र क्रिया श्यामपट्ट कार्य
छात्र-अध्यापिका संक्षेप में पाठ के लेखक के बारे में बतायेगी, और श्यामपट्ट पर आवश्यक बिन्दुओं को लिखेंगी|
लेखक का परिचय उपसंहार नामक पाठ के लेखक जवाहरलाल नेहरू है, भारत की खोज नामक पुस्तक का एक अध्याय उपसंहार है, जो नेहरू द्वारा रचित है, जवाहर लाल नेहरू का जन्म 1889 में तथा मृत्यु 1964 में हुई| एक महान राजनेता के साथ एक प्रसिद्ध लेखक के रूप में सर्व विदित है| छात्र अपनी उत्तर पुस्तिका में नोट करेंगे| जन्म – 1889

मृत्यु – 1964

पुस्तक

विश्व इतिहास की झलकियां

आत्मकथा

भारत की खोज

भारत की भिन्नताओं में सांस्कृतिक एकता है|

पाठ का सार छात्र-अध्यापिका बच्चों को पाठ का सार बताएंगी तथा उनका ध्यान विषय वस्तु की ओर संकेत करेंगी|

छात्र-अध्यापिका कथन- लेखक ने अपनी रचना भारत की खोज के उपसंहार में स्वीकार किया है, कि भारत की खोज में उसने क्या खोजा और क्या पाया? वस्तुतः भारत की अपनी एक भौगोलिक और आर्थिक सत्ता है उसकी भिन्नताओं में सांस्कृतिक एकता है, उसके विरोधों में सूत्रात्मक एकता है| विदेशियों द्वारा भारत पर बार बार आक्रमण करने पर भी भारत की आत्मा को नहीं जीत सके| यहां समय-समय पर महान स्त्री पुरुषों का जन्म होता रहा है, जो पुरानी परंपराओं को युगानुरूप ढालते रहे हैं| ऐसे लोगों में रविंद्र नाथ टैगोर का नाम आदर्श से लिया जाता है, वे आधुनिक विचारों वाले थे, परंतु उनकी नींव भारत के अतीत में थी| लेखक का मत है कि पुरानी बातें समाप्त हो रही हैं और नयापन उभर रहा है|

छात्र ध्यान पूर्वक सुनेंगे|
आदर्श वाचन छात्र-अध्यापिका बच्चों से अपनी पाठ्य पुस्तिका खोलने के लिए कहेंगी:

छात्र-अध्यापिका शुद्ध उच्चारण एवं विराम चिन्ह को ध्यान में रखते हुए उचित स्वर एवं भावानुसार गद्यांश का वाचन करेंगी|

छात्र अपनी पाठ्यपुस्तक खोलेंगे|
अनुकरण वाचन छात्र-अध्यापिका कक्षा के छात्रों को एक-एक करके गद्यांश का सस्वर पठन करने के लिए निर्देश देंगी|छात्र-अध्यापिका छात्रों के वचन के ध्यान पूर्वक सुने और उनके उच्चारण संबंधी दोषों को नोट करेंगी| छात्र आदेशानुसार गद्यांश का सस्वर वाचन करेंगे|
शब्द व्याख्या छात्र-अध्यापिका छात्रों की सहायता से गद्यांश में आए हुए शब्दों के अर्थ का भाव स्पष्ट करेंगे और उन्हें श्यामपट्ट पर लिखेंगी-

अनाधिकार – अधिकार का न होना|

चेष्टा – प्रयत्न

पुंज – समूह

अद्रश्य- जो दिखाई न दे अपराजय -जिसे जीता न जाए

सम्मोहन -आकर्षण

छात्र पूछी गई बातों का विचार करके उत्तर देंगे|

छात्र शब्द-अर्थ लिखेंगे|

शब्द-अर्थ

अनाधिकार

चेष्टा

पुंज

अद्रश्य

अपराजय

सम्मोहन

मौन वाचन छात्र-अध्यापिका छात्रों को स्वयं पाठ पढ़ने का आदेश देंगी| छात्र मौन वाचन करेंगे
बोध परीक्षा एवं विचार विश्लेषण अध्यापिका छात्रों से निम्न प्रश्न पूछेंगी:

1. विदेशियों द्वारा भारत पर बार बार आक्रमण करने पर भी वह क्या नहीं जीत सके?

2. भारत की संस्कृति कैसी है?

भारत की आत्मा|

भिन्नता में एकता

भारत की एकता

भिन्नताओं में एकता


सामान्यीकरण:छात्र-अध्यापिका यह बात मानकर चलती है, कि विद्यार्थियों को नेहरू द्वारा रचित उपसंहार का पाठ समझ में आ गया होगा|

पुनरावृति:

1. नेहरू का जन्म और मृत्यु कब हुई?

2. भारत किसका पुंज है?

3. किस महापुरुष ने अपनी संस्कृति को युगानुरूप ढाला?

गृहकार्य:

1. लेखक ने अपने लेखन में किन-किन बातों का वर्णन करके भारतीयों को अभिप्रेरित किया है?

2. भारत में किस प्रकार के महान पुरुषों ने जन्म लिया है?



www.LearningClassesOnline.com/
Further Reference:
www.LearningClassesOnline.com हिन्दी पाठ योजना

Similar Posts


Related:


For the Latest Updates and More Stuff... Join Our Telegram Channel...
LearningClassesOnline - Educational Telegram Channel for Teachers & Students. Here you Can Find Lesson Plan, Lesson Plan format, Lesson plan templates, Books, Papers for B.Ed, D.EL.ED, BTC, CBSE, NCERT, BSTC, All Grade Teachers...

Post a Comment

Please Share your views and suggestions in the comment box

Previous Post Next Post