HINDI GRAMMAR LESSON PLAN ON SAMAS | समास पाठ योजना हिंदी व्याकरण

HINDI GRAMMAR LESSON PLAN ON SAMAS | समास पाठ योजना हिंदी व्याकरण

Hindi Grammar Lesson Plan on Samas ( Samas ka arth, paribhasha, Bhed- Tatpurush samas, Karmdharya samas, dwigu samas, bahuvrihi samas, davdav samas, avyayi samas) for Class 6th to 10th.

लेसन प्लान का संक्षिप्त विवरण:

  • कक्षा: 6th to 9th
  • विषय: हिंदी व्याकरण
  • टॉपिक: समास
  • पाठ योजना प्रकार: मेगा टीचिंग


Note: निचे दी गयी हिंदी पाठ योजना केवल एक उदाहरण मात्र है| जिससे आपको Lesson Plan बनाने का Idea मिलता है| आप खुद की कल्पना शक्ति और प्रतिभा से इसे और बेहतर बना सकते है| और साथ ही साथ कक्षा, नाम, कोर्स, दिनांक, अवधि इत्यादि में बदलाव करके इसे आप अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकते है


Hindi Grammar Lesson Plan on Samas aur Uske Bhed ( समास ) Class 8 free download pdf, Hindi Grammar Lesson Plan,Digu Samas Lesson Plan,Samas Lesson Plan,Samas Lesson Plan In Hindi,Samas Path Yojna

HINDI GRAMMAR LESSON PLAN ON SAMAS For B.Ed 1st Year, 2nd Year and DELED - समास पाठ योजना हिंदी व्याकरण |Samas Lesson Plan In Hindi

Date: Duration Of The Period:
Students Teacher Name: Pupil Teacher's Roll Number:
Class: Average Age Of the Students:
Subject: Topic:

अनुदेशनात्मक उद्देश्य:

पाठोपरांत:
  • छात्र आपस में संबंध रखने वाले शब्दों के विषय में ज्ञान प्राप्त कर सकेंगे|
  • दो या दो से अधिक पदों के मेल को समझने का ज्ञान प्राप्त करेंगे|
  • विद्यार्थी परस्पर संबंध रखने वाले शब्दों की जानकारी रख पाएंगे|
  • छात्र पदों को संक्षिप्त करना या छोटा करना सीख पाएंगे|
  • विद्यार्थी दो या दो से अधिक पदों के आपसी संबंध को समझ पाएंगे|
  • शब्दों की गंभीरता के आधार पर संश्लेषण कर पाएंगे|
  • विद्यार्थी शब्दों का मूल्यांकन कर सकेंगे|

सहायक सामग्री:

  • सामान्य: चौक, बोर्ड, झाड़न, संकेतिका, पुस्तक
  • विशिष्ट: चार्ट, मॉडल, रेडियो-स्लाइड
  • समास के प्रकारों का चार्ट

पूर्वज्ञान परीक्षण:

प्रस्तावित प्रश्न संभावित उत्तर
क्या शब्दों का आपस में संबंध होता है? हाँ
क्या अपनी बात को संक्षिप्त रूप में लिखा जा सकता है? हाँ
परस्पर संबंध रखने वाले शब्दों को क्या कहते हैं? समस्यात्मक प्रश्न

उद्देश्य कथन: आओ बच्चों आज हम समास व उसके प्रकार के बारे में पढेंगे|

प्रस्तुतीकरण:

क्रम संख्या: शिक्षण बिंदु: शिक्षण विधि: छात्र-अध्यापिका क्रियाएं: छात्र-क्रियाएं:
1. समास का अर्थ आगमन विधि “परस्पर संबंध रखने वाले दो या दो से अधिक शब्दों के मेल को समास कहते हैं|”

समास एक प्रकार की शब्द रचना विधि है|

प्रश्न

उत्तर

2. समास के भेद प्रदर्शन विधि समास के छः भेद होते हैं:
  • 1. तत्पुरुष समास
  • 2. कर्मधारय समास
  • 3. द्विगु समास
  • 4. बहुब्रीहि समास
  • 5. द्वंद समास
  • 6. अव्ययीभाव समास
प्रश्न

उत्तर

3. तत्पुरुष समास व्याख्या विधि जिस समास में कारण चिन्ह्नों का लोप हो, तथा बाद का पद प्रधान हो उसे तत्पुरुष समास कहते हैं|
4. सबंधित प्रश्न उदाहरण

प्रश्न उत्तर विधि

जैसे:गगन चुंबी

बच्चों को उदाहरण दीजिए|

लोकप्रिय लोक में प्रिय

धनहीन:धन से हीन

5. कर्मधारय समास व्याख्या विधि जिस समस्त पद में पूर्व पद तथा उत्तर पद में विशेषण विशेष्य अथवा उपमेय:उपमान का संबंध हो वह कर्मधारय समास होता है|
6. द्विगु समास प्रदर्शन विधि इस समास का पहला पद संख्यावाचक विशेषण होता है| यह भी तत्पुरुष का ही एक भेद माना जाता है| सप्ताह: 7 दिनों का समूह
7. बहुब्रीहि समास व्याख्या विधि जिस समास में न तो पूर्व पद प्रधान हो और न ही उत्तर पद प्रधान हो अपितु दोनों ही पद गौण हो तथा वे दोनों पद किसी अन्य पद के संबंध में कहते हैं|
  • पीतांबर पीला है जो अंबर
  • माता-पिता
  • माता और पिता
8. द्वंद समास व्याख्या विधि जिस समास में दोनों पद प्रधान होते हैं, तथा कोई भी पद गौण नहीं होता, उसे द्वंद समास कहते हैं|
  • थोड़ा बहुत
  • थोड़ा या बहुत
  • प्रति वर्ष
  • प्रत्येक वर्ष
9. अव्ययीभाव समास निगमन विधि जिस समास में पहला पद प्रधान हो, और वह अव्यय होता है, वह अव्ययीभाव समास कहलाता है| आमरण:मरण तक

सामान्यीकरण:

छात्र-अध्यापिका यह बात मानकर चलती है, कि विद्यार्थियों को समास की समझ हो गयी होगी|



www.LearningClassesOnline.com/

Similar Posts

For the Latest Updates and More Stuff... Join Our Telegram Channel...
LearningClassesOnline - Educational Telegram Channel for Teachers & Students. Here you Can Find Lesson Plan, Lesson Plan format, Lesson plan templates, Books, Papers for B.Ed, D.EL.ED, BTC, CBSE, NCERT, BSTC, All Grade Teachers...

Post a Comment

Please Share your views and suggestions in the comment box

Previous Post Next Post